समाचार
अरविंद केजरीवाल के ‘सिंगापुर स्ट्रेन’ पर बिफरा पड़ोसी देश, भारतीय उच्चायुक्त तलब

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीते दिनों कोविड के ‘सिंगापुर स्ट्रेन (प्रकार)’ को लेकर केंद्र सरकार को चेताते हुए कार्रवाई करने का अनुरोध किया था। इस पर सिंगापुर ने मंगलवार (18 मई) को कड़ी आपत्ति दर्ज करवाई है। साथ ही भारतीय उच्चायुक्त को तलब भी किया है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में उपस्थित सिंगापुर के दूतावास की ओर से अरविंद केजरीवाल को ट्वीट के माध्यम से जवाब दिया गया, “सिंगापुर में कोरोना के नए प्रकार के पाए जाने की कोई पुष्टि नहीं हुई है। परीक्षण के आधार पर पता चला कि देश में कोरोना का बी.1.617.2 प्रकार ही मिला है। इसमें बच्चों से जुड़े कुछ मामले भी हैं।”

सिंगापुर सरकार द्वारा आपत्ति दर्ज करवाए जाने और भारतीय उच्चायुक्त को तलब किए जाने के बाद भारत की ओर से जवाब दिया गया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री के पास कोविड के प्रकार या विमानन नीति पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट किया, “सिंगापुर और भारत दोनों कोविड के खिलाफ युद्ध लड़ रहे हैं। इस लड़ाई में सिंगापुर की ओर से भारत की जो सहायता की गई, उसके लिए उनका धन्यवाद। मैं स्पष्ट करना चाहता हूँ कि दिल्ली के मुख्यमंत्री का बयान भारत का नहीं है।”

सिर्फ सिंगापुर दूतावास ही नहीं बल्कि सरकार ने भी प्रेस रिलीज़ जारी करके अरविंद केजरीवाल के दावे का खंडन किया है। सिंगापुर के विदेश मंत्री विवियन बालाकृष्णन ने मुख्यमंत्री को जवाब दिया कि राजनेताओं को तथ्यों के आधार पर बात रखनी चाहिए। कोरोना का कोई सिंगापुर स्ट्रेन नहीं है।