समाचार
कृषि कानूनों का समर्थन करने वाले उत्तराखंड के सिख साथियों के बहिष्कार की घोषणा

उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश सिख संगठन के अध्यक्ष जसवीर सिंह विर्क ने सरकार के तीन कृषि क्षेत्र के विधायी सुधारों के समर्थन में सामने आने वाले साथी सिख भाइयों के बहिष्कार का आह्वान किया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, जसवीर सिंह ने दावा किया कि उत्तराखंड के मुट्ठीभर सिख केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मिलने गए थे। उनमें से कई सिखों की तरह दिखने के लिए सिर्फ पगड़ी पहने हुए थे और अधिकांश किसान भी नहीं थे। वे रेत और बजरी के कारोबारी थे।

यह बात उत्तराखंड के किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल के कृषि मंत्री के पास जाने बाद आई है, जिसमें सिख सदस्य भी शामिल थे। ये उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के साथ सरकार को अपना समर्थन देने और तीन कानूनों को सही ठहराने के लिए तोमर के पास पहुँचे थे।

तोमर से मिलने वाले सिख सदस्यों के बहिष्कार का आह्वान करते हुए उत्तराखंड और यूपी सिख संगठन ने दोनों राज्यों के किसानों से अपील की कि वे 19 दिसंबर को गुरु तेग बहादुर की शहादत का अवलोकन करने दिल्ली पहुँचें। उन्होंने कहा, “यह जीत कि दिशा में हमारी अंतिम कोशिश होगी।”

प्रदर्शनकारी अब भी लगातार तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े हुए हैं।