समाचार
मनमोहन ने ठुकराया लेकिन सिद्धू ने स्वीकारा करतारपुर गलियारे का पाकिस्तानी न्यौता

पूर्व क्रिकेटर और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान के आमंत्रण को स्वीकार कर लिया है। पाकिस्तान ने उन्हें करतारपुर गलियारा के उद्घाटन समारोह में सम्मिलित होने के लिए आमंत्रित किया था।

लाइव हिंदुस्तान की रिपोर्ट के अनुसार, सिद्धू को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के कहने पर इस समारोह में आमंत्रित किया गया था। 9 नवंबर को होने वाले समारोह में सम्मिलित होने पर उन्होंने हामी भर दी है।

आमंत्रण स्वीकार करते हुए सिद्धू ने कहा, “करतारपुर गलियारे के ऐतिहासिक उद्घाटन में मुझे आमंत्रित करने के लिए मैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का आभारी हूँ।”

जुलाई में अमरिंदर सिंह के कैबिनेट में मंत्री पद त्यागने के बाद सिद्धू की ओर से कोई बड़ा बयान नहीं आया था। इससे पहले पाकिस्तान दौरे के समय जनरल बाजवा को गले लगाने के कारण वे विवादों में आ गए थे।

गुरु नानक देव के 550वें जयंती के अवसर पर पाकिस्तान के हिस्से में आयोजित होने वाले इस समारोह में भारत सरकार हिस्सा नहीं लेगी। इससे पहले पाकिस्तान ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को न्यौता भेजा था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, भारत और पाकिस्तान के बीच नानक जयंती पर 4 किलोमीटर लंबा गलियारा बनाया जा रहा है, जिससे दोनों देशों के श्रद्धालु करतारपुर साहिब में दर्शन कर सकें ‌।

भारत की ओर से होने वाले उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि होंगे।