समाचार
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और कुमारस्वामी पर देशद्रोह, मानहानि का मुकदमा दर्ज

बेंगलुरु पुलिस ने स्थानीय अदालत के कहने पर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्रियों सिद्धारमैया और कुमारस्वामी पर देशद्रोह, मानहानि मामलों में प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज की है।

बता दें कि न्यायालय ने यह आदेश पूर्व मुख्यमंत्रियों सिद्धारमैया और कुमारस्वामी के खिलाफ दर्ज शिकायत के अनुरूप आईपीसी की धारा 20 के तहत किया है।

बुधवार (27 नवंबर) को पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर में डीके शिवकुमार, दिनेश गुंडू राव और एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का भी नाम इस एफआईआर में शामिल है।

दरअसल लोकसभा चुनाव के समय आयकर विभाग के छापों का कांग्रेस और जनता दल (सेक्यूलर) जेडी(एस) नेताओं ने जमकर विरोध किया था जिसके बाद दोनों दलों के नेताओं केे विरुद्ध शिकायत दर्ज की गई जिस पर संज्ञान लेते हुए न्यायालय ने मुकदमा दर्ज करने का आदेश किया।

शिकायतकर्ता की पहचान मल्लिकार्जुन के रूप में हुई है जिसने आरोप लगाया कि तत्कालीन मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कांग्रेस और जेडीएस नेताओं के ठिकानों पर छापेमारी करने से पहले ही आयकर विभाग के छापे के बारे में जानकारी फैला दी थी।

कुमारस्वामी, उप-मुख्यमंत्री परमेस्वर, पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, गठबंधन सरकार में मंत्रियों, तत्कालीन सत्तारूढ़ दलों के सांसदों और अन्य विधायकों ने 27 मार्च को क्वींस रोड पर आयकर विभाग के कार्यालय के सामने एक विरोध प्रदर्शन किया था, जिसे याचिकाकर्ता ने स्पष्ट रूप से आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करार दिया।

शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में यह भी साफ किया है कि धरने पर बैठे कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं ने आयकर विभाग को बीजेपी का एजेंट कहते हुए नारे लगाए थे।