समाचार
अनुच्छेद 370 के विरोध में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा तोड़ने वाला आरोपी गिरफ्तार

भाजपा (पूर्व में भारतीय जनसंघ) के संस्थापक और जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 लगाए जाने के घोर विरोधी श्यामा प्रसाद मुखर्जी की राजस्थान में बीते दिनों प्रतिमा तोड़ दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

आजतक  की रिपोर्ट के अनुसार, भीलवाड़ा के पुलिस अधीक्षक ने बताया, “11-12 अगस्त को कुछ असामाजिक तत्वों ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को तोड़ दिया था। उन्हें अब गिरफ्तार कर लिया गया है।”

स्वतंत्रता आंदोलन में अहम योगदान निभाने वाले डॉक्टर प्रसाद आजादी के बाद बनी पहली सरकार में उद्योग मंत्री थे। उनका जन्म कोलकाता और देहांत श्रीनगर में हुआ था। वह अनुच्छेद-370 के घोर विरोधी थे। वह चाहते थे कि इसे जम्मू-कश्मीर से पूरी तरह समाप्त कर दिया जाए।

मुखर्जी श्रीनगर की जेल में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाए गए थे। वह तब जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने के विरोध में आंदोलन चला रहे थे, जिसकी वजह से उन्हें हिरासत में लिया गया था। उनकी इच्छा को पूरा होने में 66 साल लग गए। हालाँकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब अनुच्छेद 370 को खत्म किया गया था तो मुखर्जी के परिवार ने इस फैसले का स्वागत किया था।