समाचार
कोई ‘ममता’ नहीं- शिलौंग में कोलकाता कमिशनर से 12 घंटे चली सीबीआई पूछताछ

केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) ने रविवार (10 फरवरी) को कोलकाता पुलिस कमिशनर राजीव कुमार और तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद कुनाल घोष से शारदा चिट फंड और रोज़ वैली घोटाले के संबंध में लंबी पूछताछ की, टाइम्स ऑफ इंडिया  ने बताया।

रिपोर्ट के अनुसार कुमार से पूछताछ जो कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर शिलौंग में हुई, वह सुबह 10.30 बजे से शुरू होकर अगले 12 घंटों तक चली। शुरुआत में कुनाल और घोष से 10 सदस्यों के सीबीआई दल ने पूछताछ की।

इससे पहले 9 फरवरी को तीन सीबीआई अधिकारियों ने साक्ष्य नष्ट करने के आरोप में कोलकाता कमिशनर से लगभग नौ घंटे पूछताछ की थी। सीबीआई के पास जाने से पूर्व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आदेश पर कुमार के नेतृत्व में विशेष जाँच दल शारदा घोटाले की जाँच कर रहा था।

दिल्ली के अधिकारियों के अनुसार कुमार ने पूछताछ की वीडियोग्रफी की मांग की थी लेकिन इससे इनकार कर दिया गया क्योंकि हिरासती पूछताछ में यह प्रवाधान नहीं है। शारा पोंज़ी घोटाले में 2013 में गिरफ्तार हुए घोष 2016 से जमानत पर बाहर हैं।

जाँच से जुड़े एक अधिकारी ने पीटीआई  को बताया, “दोनों से पूछताछ की जा रही है और दोपहर के बाद से उनसे आमने-सामने पूछातछ की गई जबकि शुरू में दोनों से अलग-अलग पूछताछ की गई थी।”