समाचार
मध्य प्रदेश- शिवराज सिंह चौहान चौथी बार बने मुख्यमंत्री, राज्यपाल ने शपथ दिलवाई

मध्य प्रदेश में चली सियासी उठापटक के बाद सोमवार रात को भाजपा के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान ने चौथी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्यपाल लालजी टंडन ने उन्हें मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलवाई।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, भाजपा हाईकमान ने मध्य प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर शिवराज सिंह का नाम तय किया। इस पद की दौड़ के लिए मौजूदा विधानसभा में संख्या गणित को देखते हुए शिवराज सिंह को ही कमान देने का दबाव बना था।

भाजपा सरकार बना लेती है, तब उसे विधानसभा में बहुमत परीक्षण से गुजरना होगा। गत वर्ष महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने विधायकों के समर्थन पत्र राज्यपाल को सौंपकर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। इसके बाद भी उन्हें बहुमत परीक्षण से गुजरना पड़ा, जिसमें वे जीत गए थे।

मध्य प्रदेश की विधानसभा में 230 सीटें हैं। दो विधायकों के निधन और कांग्रेस के 22 बागी विधायकों की वजह से कुल अभी 24 सीटें खाली हैं। भाजपा के पास फिलहाल 107 विधायक हैं। चार निर्दलीय उसके समर्थन में आए तो भाजपा की संख्या 111 हो जाएगी। अगर निर्दलीयों ने भाजपा का साथ नहीं दिया तो उपचुनाव में पार्टी को कम से कम नौ सीटें जीतनी होंगी।