समाचार
शाहीन बाग धरना 101 दिन बाद पुलिस ने करवाया बंद पर अब भी अड़े लोग

कोरोनावायरस के खतरे की वजह से दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को 101 दिन बाद पुलिस ने मंगलवार सुबह वहाँ से हटा दिया। हालांकि, अब भी वे वहाँ पर धरना देने पर अड़े हुए हैं।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस धरना देने वालों को किसी तरह वहाँ से हटाकर घर भेजने की कोशिश में जुटी है। दिल्ली में वैसे भी धारा 144 लागू है। लोगों से घरों से ना निकलने की अपील की गई है।

पुलिस ने सुबह करीब सात बजे से कुछ लोगों को हिरासत में लेकर शाहीन बाग का धरना खत्म करवा दिया। उस वक्त भी पुलिस को विरोध का सामना करना पड़ा था। पुलिस ने 10 से 12 लोगों को हिरासत में लिया। कार्रवाई के दो घंटे बाद फिर से प्रदर्शनस्थल पर लोग एकत्रित होना शुरू हो गए और धरना जारी रखने पर अड़ गए।

पुलिस को भीड़ को समझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। पुलिस ने उनसे कहा है कि वे अपना प्रदर्शन बाद में जारी रख सकते हैं लेकिन अभी कोरोनावायरस के चलते वे जिद न करें। फिर भी कुछ लोग मानने को तैयार नहीं है।

शाहीन बाग के अलावा पुलिस ने जाफराबाद और तुर्कमान गेट पर विरोध प्रदर्शन को भी पुलिस ने बंद करवा दिया। यहाँ पर भी कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है।