समाचार
उज्ज्वला योजना 34 महीनों में 7 करोड़ से ज़्यादा घरों तक पहुँचे गैस सिलिंडर

भाजपा सरकार द्वारा शुरू की गई उज्ज्वला योजना के तहत 8 मार्च (2019) तक सिर्फ 34 महीनों के कार्यकाल में सात करोड़ से भी ज़्यादा घरों तक गैस सिलिंडर पहुँचे हैं। हालाँकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह योजना 1 मई 2016 को पाँच करोड़ कनेक्शन के लक्ष्य से शुरू की गई थी जिसके बाद उस लक्ष्य को बढ़कर आठ करोड़ कर दिया गया था।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत एक गरीब तबके के परिवार को निशुल्क जमा राशि के साथ एक गैस सिलिंडर का कनेक्शन दिया जाता है। यह कनेक्शन परिवार की महिला के नाम पर पंजीकृत किया जाता है।

एक सरकारी रिपोर्ट के अनुसार “सात करोड़ कनेक्शन सिर्फ 34 महीनों में दिए गए हैं जो कि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि हैं, एक दिन में लगभग 69,000 कनेक्शन दिए गए हैं, गैस सिलिंडर के गिनती जो 2014 में 55 प्रतिशत पर थी आज 93 प्रतिशत के भी”।

प्रदूषण से राहत  

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के शोध के अनुसार, “प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की मदद से भारत में घरों से होने वाले वायु प्रदूषण में कमी आई है। इस शोध के परिणाम राज्यों के हिसाब से अलग-अलग हैं, जो कि भविष्य में वायु प्रदूषण को काबू करने में सहायता करेंगे प्रदान करेंगे”।