समाचार
पेटीएम निकालेगा ₹16,600 करोड़ का देश का सबसे बड़ा आईपीओ, सेबी में आवेदन

बड़े आईपीओ की योजना का संकेत देते हुए विजय शेखर शर्मा की अगुआई वाली फिनटेक प्रमुख पेटीएम की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस ने 16,600 करोड़ रुपये जुटाने के लिए बाज़ार नियामक सेबी के साथ अपना आवेदन रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) दाखिल किया है।

मनी कंट्रोल की रिपोर्ट के अनुसार, विजय शेखर शर्मा द्वारा स्थापित पेटीएम वर्तमान में सबसे मूल्यवान भारतीय स्टार्टअप है। इसका मूल्य 16 अरब डॉलर है। कंपनी के पास बड़े निवेशक जैसे एंट फाइनेंशिलयल-दुनिया की सबसे बड़ी फिनटेक इकाई चीनी बड़ी कंपनी अलीबाबा और जापानी वीसी सॉफ्टबैंक हैं।

वन97 कम्युनिकेशंस का पेटीएम आईपीओ भारत में अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा। यह कीर्तिमान अब तक देश के स्वामित्व वाली कोल इंडिया के पास है, जिसने एक दशक पहले 15,000 करोड़ रुपये एकत्रित किए थे।

8,300 करोड़ रुपये में जुटाई गई कुल राशि का आधा हिस्सा प्राथमिक शेयर बिक्री के माध्यम से होगा, जबकि अन्य आधा कंपनी में मौजूदा निवेशकों द्वारा बिक्री के लिए एक प्रस्ताव (ओएफएस) होगा।

प्राथमिक शेयर बिक्री के माध्यम से जुटाए गए 8,300 करोड़ रुपये में से कंपनी 4,300 करोड़ रुपये का उपयोग विकास के लिए करेगी, जिसमें ग्राहक और व्यापारी अधिग्रहण शामिल हैं। अन्य 2,000 करोड़ रुपये का उपयोग नई व्यावसायिक पहल, निवेश और रणनीतिक साझेदारी में निवेश के लिए किया जाएगा।

डीआरएचपी दाखिल करने के लिए पेटीएम का कदम उसके शेयरधारकों द्वारा एजीएम में शेयरों के ताज़ा मुद्दे के माध्यम से 12,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना को स्वीकृति देने के कुछ दिनों बाद आया है।

इसके साथ शेयर धारकों ने इस बात की स्वीकृति दी थी कि विजय शेखर शर्मा कंपनी के प्रमोटर नही रहेंगे। उनके पास कंपनी की 20 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी नहीं है, जो किसी कंपनी के प्रमोटर होने के लिए जरूरी है। वह कंपनी के अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी बने रहेंगे।