समाचार
मल्लिकार्जुन खड़गे- ‘कांग्रेस ने बोफोर्स में नहीं किया दिखावा, राफेल की शस्त्र पूजा तमाशा’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भारत के फ्रांस से खरीदे गए पहले राफेल लड़ाकू विमान पर शस्त्र पूजा को तमाशा करार दिया है।

खड़गे के हवाले से कहा गया, “ऐसा तमाशा (शस्त्र पूजा) करने की कोई ज़रूरत नहीं थी। कांग्रेस इस तरह का दिखावा नहीं करती है। जब हमने सेना के लिए बोफोर्स हथियार खरीदा था तो हमारी ओर से कोई नेता या मंत्री उसे लाने विदेश नहीं गया था।

खड़गे ने राजनाथ सिंह के राफेल विमान में बैठने पर भी आपत्ति जताई। उन्होंने कहा, “हमारी वायुसेना के अधिकारी तय करते हैं कि वे अच्छे हैं या नहीं। ये लोग जाते हैं, विमान के अंदर बैठते हैं और दिखावा करते हैं। जब कांग्रेस सत्ता में थी, तब उसने बोफोर्स की तरह अपने रक्षा अधिग्रहण को दिखाने से परहेज किया था।”

बोफोर्स सौदा 155 मिमी फील्ड हॉवित्जर के लिए किया गया था, जिसे खड़गे ने संदर्भित किया था। यह राजीव गांधी सरकार के दौरान एक बड़ा घोटाला बन गया था। इसमें वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने सौदे को मंजूरी देने के बदले में रिश्वत लेने का आरोप लगाया था।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को विजयादशमी के अवसर पर भारत के पहले राफेल जेट की शस्त्र पूजा की थी। इस पूजा में उन्होंने लड़ाकू विमान पर ओम का प्रतीक चिह्न बनाया था।