समाचार
लखनऊ में आत्मदाह को कांग्रेस और एआईएमआईएम के नेताओं ने भड़काया था- पुलिस

एक चौंकाने वाले खुलासे में लखनऊ पुलिस ने पाया कि हजरतगंज में विधानभवन रोड पर लोकभवन गेट के पास अमेठी की महिला ने आत्मदाह की जो कोशिश की थी, वह एक पूर्वनियोजित कोशिश थी। उस घटना के पीछे सत्तारूढ़ सरकार को बदनाम करने की साजिश थी।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस जाँच में पता चला है कि उन्हें कांग्रेस और एआईएमआईएम नेताओं ने ऐसा करने के लिए उकसाया था।

रिपोर्ट में लखनऊ पुलिस आयुक्त सुजीत पांडे के हवाले से खुलासा किया गया कि मामले की जाँच से पता चला है कि पीड़ित महिला साफिया (50), जो 60 प्रतिशत झुलस गई थी, जबकि उसकी बेटी गुड़िया (28), जो 15 प्रतिशत जल गई थी, को घटना को अंजाम देने के लिए अमेठी के ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन जिला अध्यक्ष कादिर खान द्वारा उकसाया गया था। इसमें कांग्रेस नेता अनूप पटेल भी शामिल पाए गए।

पत्रकारों से बात करते हुए सुजीत पांडे ने जानकारी दी, “पता चला है कि यह एक आपराधिक साजिश के अनुसार किया गया था। इसमें कुछ लोगों ने महिलाओं को उकसाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। हमने एआईएमआईएम नेता कादिर खान, कांग्रेस नेता अनूप पटेल समेत चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।”

बता दें कि शुक्रवार (17 जुलाई) को अमेठी में एक भूमि विवाद मामले में पुलिस की निष्क्रियता को लेकर लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय के सामने एक महिला और उसकी बेटी ने खुद को आग लगा ली थी।