समाचार
कर्नाटक के 17 विधायक अयोग्य ही रहेंगे लेकिन लड़ सकेंगे चुनाव- सर्वोच्च न्यायालय

सर्वोच्च न्यायालय ने बुधवार को कांग्रेस और जद(एस) के 17 विधायकों को अयोग्य ठहराने के तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष के फैसले को बरकरार रखा है। हालाँकि, अदालत ने अयोग्य विधायकों को उपचुनाव लड़ने की मंजूरी दे दी है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, सर्वोच्च न्यायालय ने बुधवार को कर्नाटक के 17 अयोग्य विधायकों की याचिका पर अपना फैसला सुनाया। जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस संजीव खन्ना और जस्टिस कृष्ण मुरारी की पीठ ने कहा, “हम विधायकों को अयोग्य ठहराने के तत्‍कालीन विधानसभा अध्‍यक्ष केआर रमेश कुमार के फैसले को बरकरार रखते हैं लेकिन अयोग्‍य विधायक चुनाव लड़ने का अधिकार देते हैं।”

पिछले माह सर्वोच्च न्यायालय ने इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था। तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के फ्लोर टेस्‍ट वाले प्रस्ताव पर 29 जुलाई को मतदान से पहले 17 बागी विधायकों को छह साल के लिए अयोग्य करार दिया गया था। ये बागी विधायक फ्लोर टेस्‍ट के दौरान गैरहाजिर रहे थे, जिससे कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन वाली सरकार गिर गई थी।

कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की घोषणा हो चुकी है। उपचुनाव 5 दिसंबर को होने हैं। उम्मीदवारों को 11 नवंबर से 18 नवंबर के बीच अपना नामांकन पत्र दाखिल करना है।