समाचार
तेजस्वी यादव को खाली करना होगा बंगला, 50,000 रुपये का जुर्माना भी लगा

पटना उच्च न्यायालय ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव को सरकारी बंगला खाली करने का आदेश दिया था जिसे उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी लेकिन उनकी याचिका को खारिज कर दिया गया।

मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने सरकार के फैसले को चुनौती देने पर तेजस्वी यादव पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया है और बंगला खाली करने का आदेश दिया गया है, इकोनॉमिक्स टाइम्स  ने रिपोर्ट किया।

यह बंगला तेजस्वी यादव को 2015 में तब मिला था जब वह बिहार के उप-मुख्यमंत्री थे, अब यह बंगला वर्तमान उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी को आवंटित हुआ है।

अब तेजस्वी यादव विरोधी दल के नेता हैं तो कोर्ट ने उन्हें नेता प्रतिपक्ष के लिए आवंटित हुए बंगले में जाने के आदेश दिए हैं, ताकि वह बंगला वर्तमान उप-मुख्यमंत्री को मिल पाए।