समाचार
माफी से संतुष्ट नहीं सर्वोच्च न्यायालय, ‘चौकीदार चोर है’ पर राहुल गांधी को फिर नोटिस

सर्वोच्च न्यायालय ‘चौकीदार चोर है’ मामले में राहुल गांधी के माफी मांगने से संतुष्ट नहीं है। इस पर फिर से कांग्रेस अध्यक्ष को नोटिस भेजकर 30 अप्रैल तक जवाब मांगा गया है।

लाइव लॉ  की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुआई वाली सर्वोच्च न्यायालय की पीठ ने मंगलवार को मीनाक्षी लेखी की अवमानना याचिका पर सुनवाई की।

मीनाक्षी लेखी की ओर से वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने अदालत को बताया, “कांग्रेस अध्यक्ष ने किसी भी माफी की पेशकश नहीं की है। राहुल की ओर से वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने सिर्फ मामले में खेद व्यक्त करने की बात कही है।”

जानकारी के अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी की आपराधिक अवमानना ​​याचिका पर सर्वोच्च न्यायालय को दिए अपने जवाब में खेद व्यक्त किया था। राहुल ने कहा था, “आवेश में आकर उन्होंने यह बयान दिया था, जिसे विरोधी खेमे की ओर से गलत ढंग से प्रचारित किया गया। उनका इशारा शीर्ष अदालत की साख कमजोर करना नहीं था।” इसके बाद सर्वोच्च न्यायालय ने राहुल गांधी को नोटिस जारी कर अपने बयान का समझाने का निर्देश दिया।