समाचार
एसबीआई ने गृह ऋण और एफडी की ब्याज दरें कम कीं, 2019-20 में पाँचवीं बार कटौती

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने फिर से ब्याज की दरों में कटौती की है। उसने मार्जिनल कॉस्ट सर्वश्रेष्ठ देय दर (एमसीएलआर) में 0.10 प्रतिशत की कटौती की घोषणा की है। पहले यह 8.25 प्रतिशत थी, जो अब घटकर 8.15 प्रतिशत रह गई है।

टाइम्स नाऊ  की रिपोर्ट के अनुसार, एमसीएलआर की दर कम होने से गृह ऋण की ब्याज दरें कम हो जाएँगी। नई दरें 10 सितंबर से लागू की जाएँगी। 2019-20 के दौरान यह पाँचवाँ मौका है, जब एसबीआई ने ब्याज दरों में कटौती की है।

ब्याज दरें घटने और नकदी की अधिकता की वजह से एसबीआई ने फिक्स्ड डिपॉजिट पर भी ब्याज दरों में कटौती की है। बैंक ने रिटेल डिपॉजिट की दरों में 0.20 से 0.25 प्रतिशत और बल्क टर्म डिपॉजिट रेट पर 0.10 से 0.20 प्रतिशत की कटौती की है।

इस तरह एक या दो साल की एफडी पर 6.7 की बजाए 6.5 प्रतिशत ब्याज मिलेगा। दो से तीन साल की एफडी पर 6.5 से 6.25 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा। वहीं, चीन से 10 साल तक की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।