समाचार
पाकिस्तान कर रहा परमाणु सुविधा का विस्तार, उपग्रह से लिए गए चित्र दर्शा रहे प्रयास

उपग्रह से ली गईं कुछ तस्वीरों को देखकर यह संकेत मिलता है कि पाकिस्तान अपने परमाणु हथियार कार्यक्रम को बढ़ाने के प्रयास जारी रखे हुए है। उसने अपने पंजाब प्रांत के डेरा गाजी खान में पिछले नौ महीनों में तेजी से अपनी परमाणु सुविधा को विस्तार दिया है।

द प्रिंट की रिपोर्ट के अनुसार, बेहद खुफिया तरीके से उत्तर परिसर में इसका विस्तार किया गया है। पाकिस्तान ने पहले कहा था कि वह स्थल परमाणु अप्रसार संधि के सुरक्षा उपायों के तहत नहीं आता है। हालाँकि, उपग्रह से ली गईं तस्वीरें कुछ और इशारा कर रही हैं। इस सुविधा के दक्षिणी परिसर में भी 2018 में ध्यान देने योग्य विस्तार देखा गया था। इसका मतलब है कि यह पिछले दो वर्षों में तेजी से आगे बढ़ा है।

तस्वीरों में जो जगह चिह्नित की गई है, उसपर टिप्पणी करते हुए रक्षा विशेषज्ञ अभिजीत अय्यर मित्रा ने लिखा, “यह एक उच्च आतंकवादी क्षेत्र है। स्थानीय राजनेताओं का कहना है कि यहाँ पर पहले स्वतंत्रता सेनानियों ने हमला किया था।”

यह कार्यक्रम बाघालचुर की खदानों के करीब चल रहा है, जहाँ यूरेनियम अयस्क निकाला जाता है। इस क्षेत्र में खनन गतिविधियाँ हाल के कुछ महीनों में नहीं हुई है। हालाँकि, यूरेनियम अयस्क के एक अन्य स्रोत बलूचिस्तान में बारुघ के पहाड़ों में खनन गतिविधि अक्टूबर 2019 से शुरू हुई है। डेरा गाजी खान और बारुघ पहाड़ों पर क्रमशः दो घटनाक्रमों को जोड़ते हुए यह माना जा सकता है कि पूर्व में विस्तारित परमाणु सुविधा उत्तरार्द्ध से निकाले गए कच्चे माल के लिए है।