समाचार
सपा ने जारी किया घोषणा-पत्र, ‘विकास’ के लिए अमीरों पर 2 प्रतिशत अतिरिक्त कर

समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखनऊ स्थित अपने मुख्यालय से चुनावी घोषणा-पत्र जारी किया। सामाजिक न्याय से महापरिवर्तन- एक नई दिशा, एक नई उम्मीद नाम से जारी घोषणा पत्र में उन्होंने पिछड़ों को अपने पाले में लाने की कवायद की। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बनेगी तो अमीरों पर दो प्रतिशत अतिरिक्त टैक्स लगाया जाएगा, जिसकी कुल संपत्ति 2.5 करोड़ है।

ऑल इंडिया रेडियो  की रिपोर्ट के अनुसार, अखिलेश यादव ने कहा, “देश के दस प्रतिशत समृद्ध (सामान्य वर्ग) लोग 60 प्रतिशत राष्ट्रीय संपत्ति पर काबिज हैं। सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के कार्यकर्ता संकल्प कर रहे हैं कि आने वाले समय में भारत का भविष्य बेहतर हो। विजन डॉक्यूमेंट पार्टी कार्यकर्ता जनता के बीच ले जाएंगे।”

अखिलेश यादव ने कहा, “हमारा मानना है कि ज्यादा अमीर लोगों के लिए शीर्ष आयकर घेरा बनाना चाहिए, जो अपनी संपत्ति को कई तरह से छुपाते हैं। ऐसा करने से सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का एक प्रतिशत तक बचाया जा सकता है। किसानों का ऋण पूरी तरह माफ हो जाने के बाद वे भी खुश हो जाएँगे।”

अखिलेश ने भाजपा पर हमाला करते हुए बोला, “सरकार की जीएसटी जैसी नीतियों की वजह से अमीरों को और अमीर और गरीबों को और गरीब बनाया जा रहा है। भाजपा ने सामाजिक न्याय की लड़ाई को कमजोर कर दिया है।”