समाचार
एंटीलिया मामले में सचिन वाझे क्राइम ब्रांच से हटाए गए, भाजपा ने की निलंबन की मांग

मुंबई में मुकेश अंबानी के आवास एंटीलिया के बाहर विस्फोटक से भरी कार बरामद होने और कार के मालिक मनसुख हिरेन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद पुलिस अधिकारी सचिन वाझे को महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार (10 मार्च) को क्राइम ब्रांच से हटा दिया है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने विधान परिषद में बताया, “सचिन वाझे की संदिग्ध भूमिका बताकर लग रहे आरोपों के चलते उन्हें क्राइम ब्रांच से हटाकर दूसरे विभाग में तैनात किया गया है। इसका उद्देश्य मामले की निष्पक्ष जाँच करना है।” इस घोषणा के बाद विधान परिषद में विपक्ष में बैठी भाजपा ने जमकर हंगामा किया और सचिन वाझे को निलंबित करके उनकी गिरफ्तारी की मांग की।

उधर, एंटीलिया के बाहर मिली विस्फोटक से भरी कार और उसके मालिक की संदिग्ध मौत के मामले की जाँच राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने शुरू कर दी है। सूत्रों की मानें तो जाँच एजेंसी उस इनोवा कार के काफी करीब पहुँच चुकी है, जो दो बार विस्फोटक से भरी कार के पीछे दिखी थी।

एनआईए की टीम ने एंटीलिया पहुँचकर वहाँ के सुरक्षाकर्मियों और सुरक्षा अधिकारियों से पूछताछ की। सीसीटीवी फुटेज भी हासिल की। पुलिस ने भी सारी जानकारियाँ एनआईए को सौंप दी है।