समाचार
सबरीमाला पर कम्युनिस्ट केरल सरकार- 5,769 भक्तों की गिरफ्तारी और 1,869 केस दर्ज

केरल की कम्युनिस्ट सरकार द्वारा 5,769 श्रद्धालुओं की गिरफ्तारी और 1,869 केस दर्ज किए जाने के बाद रविवार को चार दिन के हिंसात्मक प्रदर्शन के बाद राज्य में एक भयानक शांति छाई रही।

2 जनवरी को 50 वर्ष से कम आयु की दो महिलाओं के मंदिर में गुप्त रूप से प्रवेश के बाद कोलाहल मचा था। केरल मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कोई भी ज़िम्मेदारी लेने से इनकार करते हुए सारा दोष भाजपा और संघ परिवार पर मढ़ दिया।

“राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, भाजपा, और संघ परिवार द्वारा की गई हिंसा के अलावा कोई और हिंसा नहीं हुई है। और अब वे राज्य को संवैधानिक परिणामों से डरा रहे हैं।”, विजयन ने अपने फ़ेसबुक पोस्ट में लिखते हुए भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व से कहा कि वे अपनी केरल ईकाई से हिंसा रोकने के लिए कहें।

राजनीतिक असहमति के कारण विपक्षी दलों की गिरफ्तारी के कारण राज्य सरकार की आलोचना की जा रही थी। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा था कि सीपीआई (एम) के नेतृत्व वाली एलडीएफ सरकार आवाज़ उठाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी कर रही है। इसके एक दिन बाद मुख्यमंत्री का यह पोस्ट आया।