समाचार
महाराष्ट्र के नांदेड़ में सद्गुरु शिवाचार्य नागठणकर और सेवादार की निर्मम हत्या

महाराष्ट्र के नांदेड़ के आश्रम में शनिवार देर रात एक साधु और उनके सेवक की निर्मम हत्या कर दी गई। साधु का शव आश्रम में मिला, जबकि सेवादार का शव आश्रम से कुछ दूर मिला। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मामले की जाँच शुरू हो गई है।

न्यूज-18 की रिपोर्ट के अनुसार, सद्गुरु शिवाचार्य नागठणकर नांदेड के आश्रम में अपने शिष्यों के साथ रहते थे। पुलिस को शुरुआती जाँच में हत्या का कारण चोरी लग रहा है।

देर रात शिवाचार्य नागठणकर की हत्या कर दी गई। उनके शिष्यों ने सुबह आश्रम में उन्हें मृत देखा तो पुलिस को तत्काल सूचना दी। पुलिस ने घटनास्थल पर पहुँचकर जाँच शुरू ही की थी कि उन्हें जानकारी मिली कि आश्रम के एक सेवादार का शव गाँव में आश्रम से कुछ दूरी पर मिला है।

पुलिस के मुताबिक, आश्रम में जिस तरह से सामान बिखरा मिला है, उससे प्रथम दृष्टया मामला चोरी का प्रतीत होता है। चोरी का विरोध करने पर साधु और उनके सेवादार की हत्या कर दी गई। सूत्रों की मानें तो रात 12 बजे से 12.30 बजे के बीच साधु की हत्या हुई। दरवाजा तोड़कर आरोपी अंदर घुसा और हत्या कर फरार हो गया।

बीते दिनों महाराष्ट्र के पालघर जिले के गडचिंचले गाँव में लोगों की भीड़ ने बेरहमी से दो साधुओं और चालक की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। दोनों साधु लॉकडाउन के दौरान गुजरात में अपने गुरु की अंतिम यात्रा में शामिल होने जा रहे थे।