समाचार
रूस ने जासूसी के आरोप के बाद स्थगित की चीन को मिसाइल S-400 ट्रायम्फ की आपूर्ति

चीन के लिए एक बड़े झटके के रूप में सामने आया है कि रूस ने चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) को सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल प्रणाली एस-400 ट्रायम्फ की आपूर्ति को स्थगित कर दिया है।

एएनआई द्वारा चीनी अखबार सोहू के हवाले दी गई रिपोर्ट के अनुसार, चीन ने कहा, “रूस इस तरह का निर्णय लेने के लिए मजबूर है क्योंकि वह चिंतित है कि इस समय एस-400 मिसाइलों का वितरण पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की महामारी विरोधी गतिविधियों को प्रभावित करेगा और उसकी परेशानी का कारण बनेगा।”

ध्यान देने योग्य बात यह है कि दोनों देशों के बीच काफी अच्छे संबंध हैं लेकिन कुछ दिन पहले ही रूस ने चीन पर जासूसी का आरोप लगाया था जिके बाद यह  अनुबंध समाप्त किया गया है।

यह कदम उस दावे के बाद सामने आया है, जिसमें रूसी अधिकारियों ने पाया था कि सेंट पीटर्सबर्ग आर्कटिक सोशल साइंसेज अकादमी के अध्यक्ष वालेरी मिट्को चीनी खुफिया एजेंसी को वर्गीकृत सामग्री बेचते थे।

एस-400 उन्नत प्रणाली वाला मिसाइल प्रणाली है, जिसमें सतह से हवा में मार करने की क्षमता है। एस-400 ट्रायम्फ प्रणाली 400 किलोमीटर तक की दूरी और 30 किलोमीटर की ऊंचाई तक को लक्ष्य को नष्ट करने में सक्षम है।