समाचार
“आईआईएफए समारोह के 700 करोड़ रुपये मप्र मुख्यमंत्री राहत कोष में जाएँगे”- चौहान

कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में मध्य प्रदेश सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए होने वाले अंतर-राष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी पुरस्कार-2020 (आईआईएफए) समारोह के 700 करोड़ रुपये की राशि को मुख्यमंत्री राहत कोष में स्थानांतरित करने का निर्णय लिया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, यह घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “इस राशि से बड़ी संख्या में वायरस से संक्रमित लोगों का उपचार किया जा सकेगा।”

कोविड-19 महामारी पर समीक्षा के लिए की गई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, “राज्य में एक बड़े आयोजन के रूप में आईआईएफए कार्यक्रम की योजना बनाई गई थी। हालाँकि, वर्तमान स्थिति को देखते हुए इस बड़े समारोह में खर्च की जाने वाली राशि कोविड-19 के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में स्थानांतरित की जाएगी।”

गौर करने वाली बात है कि पिछली कमलनाथ सरकार ने राज्य में आईआईएफए समारोह की योजना बनाई थी। इसके लिए पहले ही 700 करोड़ रुपये की राशि रख दी गई थी।

इसके अलावा, समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि राज्य में कोरोनावायरस से प्रभावित हॉट स्पॉट क्षेत्रों को पूरी तरह से सील कर दिया जाए। अभी तक कोरोनावायरस से 18 जिले प्रभावित हुए हैं। उज्जैन, इंदौर और भोपाल जिलों को पहले ही सील कर दिया गया है और शेष 15 जिलों को भी बंद करके सील किया जाएगा।

उन्होंने आगे कहा, “हॉट स्पॉट क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं, दवाओं, दूध आदि की आपूर्ति जिलाधिकारी करेंगे। इन क्षेत्रों में यात्रा पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगी। “