समाचार
दिल्ली पुलिस ने बजरंग दल के कार्यकर्ता रिंकू की हत्या की जाँच क्राइम ब्रांच को सौंपी

दिल्ली पुलिस ने शनिवार (13 फरवरी) को कहा कि मंगोलपुरी में कुछ दिन पहले बजरंग दल के 25 वर्षीय कार्यकर्ता रिंकू शर्मा की हत्या की जाँच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है।

दिल्ली पुलिस पीआरओ चिन्मय बिस्वाल ने कहा, “10 फरवरी की देर शाम मंगोलपुरी क्षेत्र के एक रेस्त्रां में कुछ लड़के जन्मदिन पार्टी मनाने के लिए पहुँचे थे। वहाँ एक पुराने रेस्त्रां बिज़नेस बंद होने को लेकर झगड़ा हुआ था। इसके बाद लड़ाई में शामिल कुछ लड़के रिंकू शर्मा के घर पहुँचे। उन्होंने घर में घुसकर उन पर चाकू से हमला कर दिया, जिससे उनकी मौत हो गई।”

परिवारवालों का कहना है कि कथित तौर पर जय श्रीराम के नारे लगाने के लिए रिंकू की हत्या कर दी गई। पुलिस अधिकारी ने कहा, “हम पीड़ित परिवार के संपर्क में हैं लेकिन जाँच से पता चलता है कि जन्मदिन की पार्टी के दौरान हाथापाई शुरू हो गई थी।”

हत्या का यह मामला सोशल मीडिया पर बहस का विषय बन गया है। हैशटैग के साथ रिंकू शर्मा को न्याय मिले ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है। कई राजनेताओं और कार्यकर्ताओं ने मृतक के परिवार से मुलाकात की है। तनाव के बीच एहतियात के तौर पर मंगोलपुरी में अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया गया था।

दिल्ली पुलिस इस मामले में पाँच आरोपियों दानिश, इस्लाम, जाहिद, मेहताब और ताजुद्दीन को पूर्व में ही गिरफ्तार कर चुकी है। रिंकू को दशहरे के दौरान आरोपियों में से ही एक ने कथित तौर पर धमकी दी थी। हालाँकि, पुलिस ने मामले में किसी भी सांप्रदायिक कोण से इनकार किया है।