समाचार
चीन की धमकी- अमेरिकी दबाव में हुआवे को रोका तो भारतीय कंपनियाँ होंगी प्रतिबंधित

चीन ने भारत को कड़े शब्दों में संदेश दिया कि वह उसकी दूरसंचार कंपनी हुआवे को देश में कारोबार करने के लिए प्रतिबंधित न करे, जिसको कुछ दिनों में लॉन्च किया जाना है। अगर वह ऐसा करती है तो चीन में सक्रिय भारतीय कंपनियों को भी प्रतिबंध झेलना पड़ सकता है।

ट्रिब्यून  की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय दूरसंचार उद्योग 5जी नेटवर्क के लिए एक बड़े बाजार का प्रतिनिधित्व करता है। इस वजह से 5जी तकनीक पर अपना आधिपत्य अमेरिका और चीन में संघर्ष की एक और वजह बन गई है।

अमेरिका कई बार भारत को चीनी नेटवर्क उपकरणों से होने वाले नुकसानों की चेतावनी दे चुका है। वह कह चुका है कि चीनी जासूसी के लिए भारतीय नेटवर्क अतिसंवेदनशील बन सकता है। चीन ने अमेरिका के दावों का खंडन किया है। उसने कहा, “चीनी निर्माताओं के उपकरण किसी अन्य प्रदाता की तरह ही सुरक्षित हैं।”

भारत ने अभी तक चीनी नेटवर्क उपकरण को परीक्षण के लिए आमंत्रित करने के बारे में बात नहीं की है। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिश्री को 10 जुलाई को चीनी विदेश मंत्रालय ने बुलाया था। उसने कहा था कि वह यूएस की चेतावनी के बावजूद इस पर विचार करे और हुआवे को परीक्षण से बाहर न करे।