समाचार
प्रियंका को शराब पिलाने की कोशिश की, शव जला या नहीं यह भी देखने पहुँचे थे आरोपी

हैदराबाद में जानवरों की डॉक्टर प्रियंका रेड्डी से दरिंदगी करने वाले आरोपियों ने खुद शराब पीने के साथ पीड़िता को भी शराब पिलाने की कोशिश की थी। पीड़िता की हत्याकर शव जलाने के बाद सभी आरोपी फरार हो गए थे लेकिन कुछ समय बाद वे यह देखने भी वापस लौटे थे कि शव पूरी तरह से जल गया है या नहीं। जाँच के बाद धीरे-धीरे ये खुलासे हो रहे हैं।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, जाँच में सामने आया है कि दो आरोपी शिवा और नवीन ने पहले राष्ट्रीय राजमार्ग-44 पर शम्शाबाद और शादनगर के बीच रेकी की थी। उन्होंने चट्टनपल्ली गाँव के एक अंडरपास के नीचे शव को जलाया था। ये दोनों प्रियंका रेड्डी की स्कूटी से आगे चल रहे थे, जबकि शव के साथ बाकी दोनों आरोपी ट्रक में थे।

पता चला है कि शिवा और नवीन ने पहले दो से तीन जगहें देखीं लेकिन वहाँ लोगों की मौजूदगी की वजह से वे नहीं रुके। हाइवे पर जब उन्हें अंडरपास में सन्नाटा दिखा तो वे शव को जलाकर वहाँ से फरार हो गए। हालाँकि, बाद में वे फिर यह देखने लौटे कि शव पूरी तरह से जला है कि नहीं।

सूत्रों की मानें तो डीजीपी और साइबराबाद कमिश्नर ने अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ रविवार शाम तक घटनास्थल का दौरा किया। यह जानकारी सामने आई है कि वारदात के वक्त आरोपियों ने डॉक्टर प्रियंका रेड्डी को जबरन शराब पिलाने की कोशिश की थी। वहीं, खबर मिल रही है कि डॉक्टर का मोबाइल फोन ट्रेस कर लिया गया है। हालाँकि, पुलिस ने इसको लेकर कोई जानकारी नहीं दी है। उनका कहना है कि फोन की जाँच की जा रही है।