समाचार
संसद भवन के पुनर्विकास के लिए अहमदाबाद की डिजाइन प्लानिंग कंपनी चुनी गई
आईएएनएस - 25th October 2019

संसद भवन के महत्वाकांक्षी पुनर्विकास के लिए वास्तु सलाहकार के रूप में अहमदाबाद स्थित कंपनी एचसीपी डिजाइन प्लानिंग को चुना गया है।

बिमल पटेल के नेतृत्व वाली कंपनी गांधीनगर में केंद्रीय खाके के पुनर्विकास और साबरमती रिवरफ्रंट विकास परियोजना पर भी काम कर चुकी है। शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने कहा, “इसकी लागत 229.7 करोड़ रुपये आ रही है, जो अनुमानित 448 करोड़ रुपये की लागत से कम है।”

उन्होंने बताया, “कुल लागत का 3 से 5 प्रतिशत परामर्श पर खर्च होगा।” हालाँकि, उन्होंने इसका आँकड़ा देने से मना कर दिया। पुरी ने कहा, “इसमें एक नया केंद्रीय सचिवालय भवन बनेगा क्योंकि कई सरकारी कार्यालय दिल्ली-एनसीआर में हैं। उनके एक महीने के किराये पर 1000 करोड़ रुपये खर्च किए जाते हैं।”

पुरी ने कहा, “यह निर्माण कम से कम 250 वर्षों की जरूरतों को पूरा करने के लक्ष्य के साथ हो रहा है। अब 250 वर्षों तक राष्ट्रीय राजधानी के रूप में दिल्ली की आधुनिक और परिभाषित विशेषताओं के निर्माण का समय आ गया है।”

दिल्ली के लिए इसे एक परिवर्तनकारी कदम बताते हुए मंत्री ने कहा, “अनधिकृत कॉलोनियों के लिए मालिकाना हक देने सहित कई उपाय किए गए हैं।” दिल्ली विधानसभा चुनाव में अब कुछ समय ही शेष है। इस पर पुरी ने कहा, “संसद भवन का पुनर्विकास अगस्त 2022 तक समाप्त हो जाएगा।”