समाचार
सहयोग या उपभोग? केरल बाढ़ के लिए राहत कोष को मिले आधी राशि के चेक अस्वीकृत

अगस्त 2018 में आई बाढ़ में सहयोग देने के लिए केरल मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष (सीएमडीआरएफ) को दिए गए चेकों में से आधों को बैंकों ने अस्वीकार किया है, इंडियन एक्सप्रेस ने बताया।

कासरगोड के विधायक एनए नेल्लीक्कुन्नू द्वारा विधान सभा में उठाए प्रश्न के जवाब में मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बताया कि 30 नवंबर तक सीएमडीआरएफ को 7.46 करोड़ रुपये के चेक व डीडी प्राप्त हुए थे परंतु उनमें से 3.26 करोड़ रुपये के 395 चेक व डीडी को बैंकों ने अमान्य घोषित किया।

रिपोर्ट में बताया गया कि नेल्लीक्कुन्नू ने कहा कि कई संस्थाओं ने ख्याति पाने के लिए चेक दिए थे। “अस्वीकृत चेकों की बड़ी संख्या को देखते हुए लगता है कि कई संस्थाओं ने केवल पब्लिसिटी के लिए चेक दिया था।”

रिपोर्ट के अनुसार सीएमडीआरएफ को 30 नवंबर 2018 तक 2,797.67 करोड़ रुपए की राशि प्राप्त हुई थी जिसमें से अधिकांश नकद के रूप में दी गई थी। कुल दान में से 260.45 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए थे जबकि 2,537.22 करोड़ रुपए नकद, चेक व डीडी के रूप में दिए गए थे। उन्होंने बताया कि 457.23 करोड़ रुपये आकस्मिक सहायता के लिए खर्च किए गए।