समाचार
अचल संपत्ति विकासकर्ताओं को पीयूष गोयल ने कहा, “प्रतीक्षा की बजाय बेचने में लाभ है”

कोरोनावायरस महामारी के कारण आई आर्थिक मंदी में वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने अचल संपत्ति के विकासकर्ताओं को कहा हा कि वे बाज़ार के उभरने की प्रतीक्षा करने की बजाय अपनी वस्तुसूचियों को कम मूल्य पर बेचें, इकॉनोमिक टाइम्स ने रिपोर्ट किया।

राष्ट्रीय अचल संपत्ति विकास परिषद द्वारा आयोजित वीडियो सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बाज़ार शीघ्र उभरने वाला नहीं है और उनके लिए बेचना ही लाभकारी है।

“यदि आप सोच रहे हैं कि सरकार इस प्रकार से वित्तीय व्यवस्था करेगी कि आप लंबे समय तक इन संपत्तियों को अपने पास रखकर बाज़ार उभरने की प्रतीक्षा कर सकें तो जान लें बाज़ार जल्दी नहीं उभरने वाला है। बहुत तनाव है और बेचने में ही आपका लाभ।”, गोयल ने कहा।

आगे उन्होंने कहा कि सरकार रियायत देगी लेकिन सरकार की रियायत के बावजूद भी विकासकर्ताओं को संपत्ति बेचनी होगी। विकासकर्ताओं को गोयल ने याद दिलाया कि जिन लोगों ने कम दाम पर संपत्ति बेच दी है, वे बैंक का ऋण चुकाकर मंदी को झेल पाने में सक्षम हैं औरजो मूल्य पर टिककर संपत्ति नहीं बेच रहे हैं, वे ऋण के बोझ तले दब रहे हैं।