समाचार
संजय राउत ने बनर्जी की “प्रचंड जीत” की कामना की, शिवसेना नहीं लड़ेगी बंगाल चुनाव

शिवसेना नेता संजय राउत ने आज (4 मार्च) घोषणा की कि पार्टी ने पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ने की योजना को रद्द कर दिया है। राउत ने दावा किया कि यह निर्णय बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का समर्थन करने के लिए लिया गया है।

ट्वीट करके राउत ने जानकारी दी कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से चर्चा के बाद यह निर्णय लिया गया है। उनके अनुसार, स्थिति देखकर लगता है कि बंगाल के चुनाव “दीदी बनाम ऑल” हो गए हैं।


इस “ऑल (सब)” की सूची में उन्होंने मनी (पैसा), मसल (बाहुबल) और मीडिया को डाला है जो राउत के अनुसार ममता बनर्जी के विरुद्ध काम कर रहे हैं इसलिए “शिवसेना ने पश्चिम बंगाल चुनाव न लड़ने का निर्णय लिया है।”

ममता बनर्जी के साथ खड़े होने की बात कहकर संजय राउत ने ममता बनर्जी के लिए “प्रचंड विजय” की भी कामना की क्योंकि उनका मानना है कि वे वास्तविक “बंगाल की बाघिन” हैं। 2016 में शिवसेना ने बंगाल की 21 सीटों पर चुनाव लड़ा था और सभी पर हारी थी।

हाल के बिहार विधान सभा चुनाव भी शिवसेना ने लड़े थे और वहाँ भी पार्टी को मुँह की खानी पड़ी थी। 50 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद शिवसेना 22 सीटों पर ही लड़ सकी थी और सभी 22 सीटों पर वह हारी थी तथा नोटा से भी कम वोट उसे मिले थे।