समाचार
रंजन गोगोई को सेवानिवृत्ति के बाद असम में मिलेगी जेड प्लस सुरक्षा

सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को असम में जेड प्लस सुरक्षा मुहैया करवाई जाएगी। वह 17 नवंबर को सेवानिवृत्त होने के बाद असम में ही रहेंगे। वहाँ की पुलिस को गोगोई के डिब्रूगढ़ स्थित पैतृक व दूसरे आवास की सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम करने के आदेश दिए गए हैं।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले हफ्ते अयोध्या का निर्णय सुनाए जाने से पहले ही रंजन गोगोई सहित चार अन्य न्यायाधीशों की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा, “मंत्रालय किसी व्यक्तिगत की सुरक्षा पर किसी तरह का कोई बयान नहीं देना चाहेगा।”

असम पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “हमें केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से निर्देश मिले हैं कि रंजन गोगोई की सुरक्षा को बढ़ाकर जेड प्लस कर दिया जाए। हम सुरक्षा की महत्वपूर्ण व्यवस्था कर रहे हैं क्योंकि अब वह गुवाहाटी में ही रहेंगे।”

नौ नवंबर को रंजन गोगोई और अन्य चार जजों की पीठ ने अयोध्या की विवादित भूमि को लेकर दशकों से चले आ रहे मामले पर ऐतिहासिक निर्णय दिया था। पिछले साल गोगोई की सुरक्षा में कामाख्या मंदिर शक्तिपीठ में दौरे के दौरान लापरवाही बरती गई थी। इसको लेकर डीसीपी भंवर लाल मीणा को निलंबित कर दिया गया था। गृह मंत्रालय के अधिकारी ने कहा, “इस बार सुरक्षा में चूक न हो, यह पहले ही सुनिश्चित किया जाएगा।”