समाचार
रामचंद्र गुहा का जनसंख्या स्थानांतरण के पक्षधर अंबेडकर के चित्र संग प्रदर्शन विडंबना

गुरुवार (19 दिसंबर) को नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में बेंगलुरु में लेखक व इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने प्रदर्शन किया लेकिन विडंबना यह है कि प्रदर्शन के दौरान उन्होंने अंबेडकर का चित्र अपने हाथ में रखा था जबकि डॉ भीमराव अंबेडकर विभाजन के बाद संपूर्ण हिंदुओं व मुसलमानों के क्रमशः भारत और पाकिस्तान में स्थानांतरण के पक्षधर थे।

“यह आदान-प्रदान का विचार है, विनाश का नहीं।… यह व्यवहारिक नहीं है लेकिन व्यवहारिक होता तो मैं इसे ही चुनता।”, अंबेडकर ने कहा। अपने इस लेख में अंबेडकर ने यह बी माना ता कि हिंदू और मुस्लिम इतने पृथक हैं कि वे साथ नहीं रह सकते व “वे केवल व्यापार के लिए मिलते हैं या हत्या के लिए।”

नागरिकता संशोधन अधिनियम के तहत नागरिकता पाने वाले लोगों में से अधिकांश लोग दलित होंगे लेकिन दूसरी विडंबना यह है कि भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद दिल्ली के जामा मस्जिद के समक्ष हो रहे प्रदर्शन में भागीदारी निभा रहे हैं।