समाचार
राकेश टिकैत की केंद्र सरकार को धमकी, “अभी हमने गद्दी वापसी का नारा नहीं लगाया”

किसान नेता राकेश टिकैत ने सोमवार (15 फरवरी) को करनाल महापंचायत में धमकी देते हुए कहा, “केंद्र सरकार ज़्यादा दिमाग न खराब करे। अभी हमने विधेयक वापसी का नारा लगाया है, गद्दी वापस का नारा नहीं दिया है। लाल किला हिंसा पर सरकार ने नफरत फैलाने का काम किया है।”

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार, महापंचायत को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने कहा, “किसान अब तब तक शांत नहीं बैठेंगे, जब तक हमारे पक्ष में निर्णय नहीं किया जाता है। कृषि कानून न सिर्फ किसानों बल्कि छोटे व्यापारियों, ग्रामीणों और अन्य वर्ग को भी प्रभावित करेगा।”

उन्होंने कहा, “सरकार ने गोदाम पहले बना लिए और कानून बाद में लाई। किसानों को नहीं पता था कि ये कानून बड़े कॉरपोरेट के पक्ष में है। इस देश में भूख पर व्यापार की अनुमति नहीं दी जाएगी। पंच और मंच एक ही रहेगा। सिंघू सीमा ही हमारा मुख्य कार्यालय होगा।”

बता दें कि गत वर्ष सितंबर में संसद में पारित कृषि कानूनों के खिलाफ उत्तर प्रदेश के भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) नेता दो महीने से अधिक समय से दिल्ली-उत्तर सीमा पर गाज़ीपुर में डेरा डाले हुए हैं।