समाचार
भारत-चीन सैन्य वार्ता से पूर्व राजनाथ सिंह ने किया सीमावर्ती क्षेत्रों में 44 पुलों का उद्घाटन

वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर तनाव कम करने के लिए भारत-चीन के मध्य सैन्य स्तर की सातवीं वार्ता से पूर्व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सीमाव्रती राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 44 पुलों का उद्घाटन किया है।

ये पुल सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा बनाए गए हैं जिसका दायित्व सीमावर्ती क्षेत्रों में सामरिक सड़कें और पुल बनाना है। उद्घाटन किए गए 44 पुलों में से 10 केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर, आठ लद्दाख, दो हिमाचल प्रदेश, चार पंजाब, आठ उत्तराखंड और 4 सिक्किम में हैं।

भारत पहले ही चीन को कह चुका है कि वह पूर्वी लद्दाख में एलएसी के निकट इंफ्रास्ट्रक्चर विकास को नहीं रोकेगा। विशेषज्ञों का मानना है कि वार्ता के पहले ये उद्घाटन इसलिए किए गए हैं ताकि चीन को संदेश दिया जा सके।

इससे पहले माह की शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोहतांग सुरंग का भी उद्घाटन किया था जो 10,000 फीट की ऊँचाई पर बनी सबसे लंबी सुरंग है। इस सुरंग से लद्दाख तक सैनिकों की आवाजाही और उनकी आवश्यकता पूर्ति सरल होगी।