समाचार
राजीव बनर्जी ने भी छोड़ा ममता बनर्जी का साथ, राज्यपाल ने स्वीकार किया त्याग-पत्र

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों से पहले ममता बनर्जी की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। तृणमूल कांग्रेस सरकार से वन मंत्री राजीव बनर्जी ने शुक्रवार (22 जनवरी) को अपना पद त्याग दिया। उन्होंने अपना त्याग-पत्र भी भेज दिया, जिसे राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, राजीव बनर्जी ने त्याग-पत्र में लिखा, “मुझे यह आपको बताते हुए खेद हो रहा है कि मैं कैबिनेट मंत्री के रूप में अपने वन विभाग के प्रभारी के पद से आज ही 22 जनवरी 2021 को त्याग-पत्र दे रहा हूँ।”

उन्होंने आगे लिखा, “पश्चिम बंगाल के लोगों की सेवा करना बहुत सम्मान और सौभाग्य की बात है। इस अवसर को पाने के लिए मैं दिल से आभार व्यक्त करता हूँ और सभी को धन्यवाद देता हूँ। मैंने इसकी प्रति पश्चिम बंगाल के महामहिम राज्यपाल को आवश्यक कार्यवाही के लिए भेज दी है। कृपया मेरा त्यागपत्र स्वीकार करने की कृपा करें।”

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने उनके त्याग-पत्र को स्वीकार कर लिया है। राजीव बनर्जी लंबे समय से पार्टी से असंतुष्ट चल रहे थे। उन्हें मनाने के लिए कई बैठकें भी की गई थीं लेकिन कोई समाधान नहीं निकला था। वह पिछली कई कैबिनेट बैठकों में भी सम्मिलित नहीं हुए थे।

बता दें कि शुभेंदु अधिकारी के बाद हाल ही में शांतिपुर विधानसभा सीट से विधायक अरिंदम भट्टाचार्य ने पार्टी छोड़ दी थी। इसके बाद उन्होंने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता ले ली थी।