समाचार
“रजत शर्मा बने रहेंगे डीडीसीए अध्यक्ष, विनोद तिहारा की बहाली पर रोक”- लोकपाल

रजत शर्मा का त्याग-पत्र दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के लोकपाल सेवानिवृत्त न्यायाधीश बदर दुरैज अहमद ने स्वीकार नहीं किया। साथ ही उन्होंने निलंबित महासचिव विनोद तिहारा की बहाली पर रोक लगा दी। शनिवार को रजत शर्मा ने बिना किसी का नाम लिए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, डीडीसीए के लोकपाल बदर दुर्रेज कहा, “प्रक्रिया ठीक से नहीं हुई इसीलिए अध्यक्ष से सारे अधिकार तब तक नहीं लिए जा सकते और तिहारा का निलंबन तब तक निरस्त नहीं हो सकता, जब तक लोकपाल के पास उनका मामला विचाराधीन है। ऐसे में रजत शर्मा कुछ और दिन डीडीसीए के अध्यक्ष बने रह सकते हैं।”

लोकपाल ने अपने आदेश में कहा, “13 नवंबर 2019 को तीन कथित प्रस्ताव शीर्ष परिषद ने पास किए थे, जो अवैध हैं। इनमें से एक विनोद की बहाली पर है, जिन पर 2 नवंबर को शीर्ष परिषद ने निलंबन लगाया था। उनका मामला मेरे पास विचाराधीन है। इसमें उन्हें जवाब देने के लिए 2 सप्ताह का समय दिया गया है। हालाँकि, अब तक तिहारा ने कोई जवाब नहीं दिया है।”

उन्होंने आगे कहा, “शीर्ष परिषद रजत शर्मा और किसी अन्य बोर्ड सदस्यों के इस्तीफे के आदेश को पास नहीं कर सकता है। ऐसे में इन आदेश को ठंडे बस्ते में डाला जाता है। बिना लोकपाल की मंजूरी के शीर्ष परिषद किसी भी तरह का प्रस्ताव पास नहीं कर सकती है। इन सभी शिकायतों की सुनवाई 27 नवंबर को होगी।”