समाचार
राजस्थान उच्च न्यायालय ने दी सचिन पायलट को राहत, जोशी के नोटिस पर रोक बरकरार

राजस्थान कांग्रेस संकट के मामले में उच्च न्यायालय ने सचिन पायलट को बड़ी राहत देते हुए अपना आदेश सुनाया और यथास्थिति को बरकरार रखने को कहा। न्यायालय ने विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के नोटिस पर रोक लगाने के अपने आदेश को बरकरार रखा है।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, सचिन पायलट सहित बागी विधायकों पर विधानसभा अध्यक्ष अभी कार्रवाई नहीं कर सकते हैं। न्यायालय ने अपने आदेश में कहा, “नोटिस पर फिलहाल कार्रवाई नहीं होगी। हम आगे की सुनवाई जारी रखेंगे। न्यायालय आगे की सुनवाई के लिए पहले कानून के सवाल को तय करेगा।”

पायलट खेमे की ओर से शुक्रवार को न्यायालय में इस मामले को लेकर केंद्र सरकार को भी पक्ष बनाने की याचिका दाखिल की गई थी। इसे स्वीकार कर लिया गया। न्यायालय ने कहा है कि वो इस मामले में केंद्र का पक्ष भी सुनेगा।

इससे पूर्व, उच्च न्यायालय ने विधानसभा अध्यक्ष को शुक्रवार तक कोई कार्रवाई न करने का आदेश दिया था। हालाँकि, वह फैसले के खिलाफ बुधवार को सर्वोच्च न्यायालय पहुँचे। उन्होंने याचिका में कहा था कि विधानसभा अध्यक्ष के पास नोटिस जारी करने का अधिकार है। इसमें अदालत भी दखल नहीं दे सकती है। सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को सुनवाई की और अगली सुनवाई सोमवार तक टाल दी थी। न्यायालय ने कहा कि उच्च न्यायालय का फैसला उसके अधीन रहेगा।