समाचार
राजस्थान में डीएसपी ने दिया भ्रष्टाचार पर भाषण, एक घंटे बाद ही घूस लेते गिरफ्तार

सवाई माधोपुर में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) में तैनात डीएसपी भैरूलाल मीणा ने 9 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस के मौके पर रिश्वत के खिलाफ भाषण दिया था। उसके एक घंटे बाद ही उन्हें घूस लेते हुए उन्हें पकड़ लिया गया था।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, भैरूलाल मीणा ने भाषण दिया था, “अगर कोई राज्य या केंद्र सरकार का अधिकारी घूस मांगे तो टोल फ्री नंबर 1064 पर शिकायत अवश्य दर्ज करवाएँ। इस तरह का दुर्व्यवहार करने वाले अधिकारियों को बख्शा नहीं जाना चाहिए।”

एक घंटे बाद ही डीएसपी मीणा को 80 हजार रुपये की घूस लेते हुए जयपुर से एक एसीबी टीम द्वारा रंगे हाथों पकड़ा गया था। साथ ही घूस देने वाले जिला परिवहन अधिकारी (डीटीओ) को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

एसीबी राजस्थान के महानिदेशक बीएल सोनी ने खुलासा किया कि मीणा को सवाई माधोपुर में एजेंसी के आउटपोस्ट की जिम्मेदारी दी गई थी। अधिकारी मासिक आधार पर डीटीओ महेश चंद से रिश्वत मांग रहा था।

उन्होंने आगे कहा, “ब्यूरो को पिछले दो-तीन महीनों से अपने ही अधिकारी के खिलाफ शिकायतें मिल रही थीं। डीसीपी के खिलाफ एक और शिकायत दर्ज होने के बाद एक जाल बिछाकर मीणा को गिरफ्तार करने का फैसला किया गया। इसके अलावा, डीटीओ मुकेश चंद को एजेंसी द्वारा भी गिरफ्तार किया गया है क्योंकि रिश्वत देना और लेना दोनों भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत अपराध माना जाता है।