समाचार
भारत में सितंबर माह में सर्वाधिक वर्षा का टूट सकता है 102 वर्षों का रिकॉर्ड

देश के कई हिस्सों में भारी मानसून के मद्देनजर सितंबर का यह महीना पिछले 102 वर्षों में सबसे ज्यादा बारिश वाला माह बनने वाला है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, इस वर्ष जून-सितंबर के मानसून का सीजन पहले ही सामान्य बारिश से 9 प्रतिशत ज़्यादा है, जबकि यह आँकड़े सीजन के एक दिन शेष रहते हुए हैं।

भारत के मौसम विभाग (आईएमडी) के रिकॉर्ड के अनुसार, इस महीने देशभर में हुई बारिश का औसत 247.1 मिलीमीटर है, जो कि सामान्य बारिश से 48 फीसदी अधिक और 1901 के बाद तीसरी सबसे अधिक बारिश का कीर्तिमान बना रहा है।

आईएमडी को उम्मीद है कि यह आँकड़ा 1983 के आँकड़े (255.8 मिमी) को तोड़ देगा क्योंकि गुजरात और बिहार में भारी बारिश को लेकर पहले से ही चेतावनी जारी की जा चुकी है।

अगर यह पिछले 1983 के आँकड़े को पार करने में सफल होता है तो इस वर्ष सितंबर केवल 1917 से पीछे रहेगा, जब 1901 के बाद सितंबर में सबसे अधिक बारिश हुई थी।

आईएमडी के मौसम विज्ञान के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा, “मानसून बहुत जल्द समाप्ती की ओर जाता नहीं दिख रहा है। अब भी 4-5 दिन बारिश के थमने के कोई आसार नहीं नज़र आ रहे हैं।”

इस साल मॉनसून ने देर से दस्तक दी और जून में 33 प्रतिशत बारिश की कमी देखी गई। यह सोमवार को आधिकारिक रूप से खत्म होने वाली थी, जबकि पिछले 25 वर्षों में चार महीने की अवधि में सबसे अधिक बारिश हुई है। देशभर के आँकड़ों को देखें तो इस दौरान 956.1 मिलीमीटर यानी 9 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है।