समाचार
रक्षा समिति की बैठकों में अनुपस्थित रहने वाले राहुल गांधी ने किया वॉक-आउट

राहुल गांधी और कांग्रेस के कुछ सदस्यों ने रक्षा मामले की संसदीय समिति की बैठक से बुधवार (16 दिसंबर) को यह आरोप लगाते हुए वॉक-आउट किया कि राष्ट्रीय सुरक्षा के अहम मुद्दों की बजाय सशस्त्र बलों की वर्दी पर चर्चा करके समय बर्बाद किया जा रहा है। बता दें कि लोकसभा की वेबसाइट पर जुलाई तक मिली जानकारी के अनुसार, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष तब तक समिति की किसी भी बैठक में शामिल नहीं हुए थे।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, राहुल गांधी समिति के समक्ष लद्दाख में चीन की आक्रमकता और सैनिकों को बेहतर उपकरण उपलब्ध कराने से जुड़े मुद्दे उठाना चाहते थे लेकिन समिति के अध्यक्ष जुएल उरांव (भाजपा) ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी।

बैठक में राहुल ने सेनाओं की वर्दी पर चर्चा की बजाए नेताओं को राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों व लद्दाख में तैनात सशस्त्र बलों को मजबूत करने के बारे में चर्चा करने की बात कही। अनुमति न मिलने पर राहुल के बाद कांग्रेस सांसद राजीव सातव और रेवंत रेड्डी बाहर चले गए।

बता दें कि पूर्व में राहुल गांधी भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच जारी गतिरोध सहित कई मुद्दों पर केंद्र सरकार की तीखी आलोचना कर चुके हैं। उन्होंने दावा किया था कि देशभक्त लद्दाख के लोग चीनी घुसपैठ के खिलाफ अपनी आवाज़ उठा रहे थे। उन्होंने चेतावनी भी दी थी कि यह अनदेखी देश को भारी पड़ेगी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्री मोदी की महत्वाकांक्षी मेक इन इंडिया परियोजना और चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के केंद्र के फैसले पर हमला भी किया था।