समाचार
राहुल गांधी बोले एनआरसी, एनपीआर, ‘गरीबों पर कर’ जैसे, नौकरी तलाशने में होगी दिक्कत

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार (27 दिसंबर) को दावा किया कि राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) और नागरिकों का राष्ट्रीय रजिस्टर (एनआरसी), “गरीबों पर कर”, की तरह है, और इन दोनों की तुलना विमुद्रीकरण से की।

एएनआई की खबर के अनुसार राहुल गांधी ने यह भी कहा, “यह गरीब लोगों पर हमला है, अब गरीब पूछ रहा है कि हमें रोजगार कैसे मिलेगा?”

कांग्रेस पार्टी ने हाल ही में इंडिया गेट पर सीएए का विरोध करने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन भी किया था, लेकिन राहुल गांधी इस कार्यक्रम से गायब थे, यहाँ तक कि पार्टी कार्यकर्ताओं को भी आश्चर्य हुआ कि वें कहाँ है।