समाचार
राउल विंसी के नाम से की थी ‘रागा’ ने डिग्री, ब्रिटिश नागरिकता पर अभी सफाई नहीं

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नामांकन के विरुद्ध चार याचिकाएँ दर्ज की गई थीं जिसमें निर्दलीय प्रत्याशी ध्रुव लाल द्वारा उनकी नागरिकता पर भी प्रश्न खड़ा किया गया था। लाल के वकील रवि प्रकाश ने शनिवार (20 अप्रैल) को दावा किया था कि राहुल गांधी ने स्वयं को एक ब्रिटिश नागरिक घोषित किया था।

इसके अलावा राहुल की डिग्री पर भी सवाल उठाए गए थे जिसमें भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा था कि राहुल ने अलग-अलग घोषणापत्रों में अलग-अलग जानकारी दी है। सोशल मीिया पर उनकी डिग्री का चित्र बी वाइरल हुआ था जिसमें उनका नाम राउल विंसी व डिग्री का वर्ष 2004-05 उल्लेखित था जबकि वे 1994-95 में डिग्री करने का दावा करते हैं।

इसपर एक व्यक्ति ने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय को मेल लिखकर जानकारी मांगी जिसपर विश्वविद्यालय ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्होंने 1994-95 में ही डिग्री की थी और  2004-05 का लिखा होना एक त्रुटि मात्र है। साथ ही यह भी साफ किया गया कि उन्होंने राउल विंसी के नाम से ही डिग्री की थी।

हालाँकि कई रिपोर्टों में बताया जा रहा है कि राजीव गांधी की हत्या के बाद राहुल की सुरक्षा के लिए उनका नाम बदलकर दाखिला करवाया गया था व साथ ही ब्रिटिश प्राधिकरणों में चलन है कि वीवीआईपी छात्रों को सुरक्षा देने के लिए ऐसा किया जाता है।

अभी उनकी ब्रिटिश नागरिकता पर किसी प्रकार का स्पष्टीकरण नहीं किया गया है और न ही कांग्रेस या राहुल गांधी ने कोई सफाई दी है।