समाचार
“राम वन गमन मार्ग का प्रारूप लोक निर्माण विभाग ने तैयार कर लिया”- केशव प्रसाद मौर्य

भगवान राम, सीता और लक्ष्मण के साथ वनवास के दौरान जिस मार्ग से गए थे, उसे पुनः वापस लाने का प्रयास करते हुए प्रस्तावित राम वन गमन मार्ग के प्रारूप को उत्तर प्रदेश में लोक निर्माण विभाग ने तैयार कर लिया है।

उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने संवाददाताओं से कहा कि लोक निर्माण विभाग ने राम वन गमन मार्ग का बहुप्रतीक्षित प्रारूप तैयार कर लिया है और अधिग्रहित भूमि के मुआवज़े का वितरण पूरा कर लिया गया है।

मार्ग को सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, शृंगवेरपुर धाम, मंझनपुर और राजापुर होते हुए चित्रकूट तक विकसित किया जाना है। अयोध्या से चित्रकूट की दूरी करीब 210 किलोमीटर है।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि भारत सरकार ने एनएच-731 की मार्गरेखा को स्वीकृति दे दी है। इसकी कुल लंबाई 112 किलोमीटर है और इस 112 किलोमीटर को तीन पैकेज के तहत विकसित किया जाना है।

उप-मुख्यमंत्री ने कहा, “सड़क पैकेज के विकास के बाद क्षेत्र का रणनीतिक और आर्थिक विकास तेज़ी से होगा। गंगा नदी पर पूर्व-निर्मित पुल के उपयोग से कौशांबी जिले के शृंगवेरपुर धाम तक सीधी पहुँच बन सकेगी।”