समाचार
गोधरा कांड के मुख्य आरोपी रफीक भटुक को 19 वर्ष बाद पुलिस ने किया गिरफ्तार

2002 के गोधरा साबरमती एक्सप्रेस कांड के मुख्य आरोपी रफीक भटुक को 19 वर्ष तक फरार रहने के बाद गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी को गत शुक्रवार (12 फरवरी) को सिग्नल फालिया क्षेत्र में गोधरा शहर पुलिस के साथ पंचमहल पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) द्वारा गिरफ्तार किया गया।

काफी समय तक बाहर रहने के बाद रफीक भटुक हाल ही में राज्य में लौटा था। पंचमहल की एसपी डॉक्टर लीना पाटिल ने एएनआई के हवाले से कहा, “हमने 2002 में गोधरा एक्सप्रेस ट्रेन जलाने के मामले में मुख्य अभियुक्त को 19 वर्ष बाद गिरफ्तार किया। वह दिल्ली में विभिन्न निर्माण स्थलों पर काम कर रहा था।”

भटुक घटना के समय गोधरा के मोहम्मदी मोहल्ले का निवासी था लेकिन बाद में वह सिग्नल फलिया में शिफ्ट हो गया था। इस मामले में आरोपी के तौर पर उसका नाम सामने आने के बाद से वह भाग रहा था और इस बीच दिल्ली के अन्य स्थानों पर रहा।

कथित तौर पर तीन अन्य मुख्य आरोपी हैं, जिन्हें गिरफ्तार किया जाना बाकी है। सलीम पानवाला और शौकत चरखा उनमें से दो हैं। हालाँकि, यह जोड़ी फिलहाल पाकिस्तान में है और उनके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी की गई है।

बता दें कि साबरमती एक्सप्रेस के एस-6 कोच को दूसरों के साथ मिलकर आग लगाने के लिए पेट्रोल का इंतजाम करने और भीड़ को दंगे के लिए उकसाने में रफीक भटुक की मुख्य भूमिका थी। इस घटना में 59 कारसेवकों की मौत हो गई थी, जो अयोध्या से लौट रहे थे।