समाचार
राज़ी का अंत मेघना गुलज़ार ने पाकिस्तानियों को रिझाने के लिए बदल दिया- लेखक हरिंदर

पुस्तक कॉलिंग सहमत पर बॉलिवुड फिल्म राज़ी बनाई गई थी। इसके लेखक हरिंदर एस सिक्का ने आरोप लगाया है कि फिल्म निर्माताओं ने पाकिस्तानियों को खुश करने के लिए कहानी को बदलाव के साथ खत्म कर दिया।

एक ट्विटर उपयोगकर्ता के दावे का जवाब देते हुए कहा कि राज़ी फिल्म में भारतीय खुफिया अधिकारियों की छवि को ठीक से उजागर नहीं किया गया। सिक्का ने उपयोगकर्ता से कॉलिंग सेहमत पुस्तक पढ़ने का आग्रह किया, जिसका एक अलग ही अंत है।

फिल्म में मुख्य अभिनेता का किरदार आलिया भट्ट ने निभाया, जो एक रॉ एजेंट की भूमिका में दिखीं। वह एक उच्च श्रेणी के पाकिस्तानी सेना अधिकारी के बेटे से शादी कर लेती है। वहीं, फिल्म के अंत में उसे अपने काम से मोहभंग होने के रूप में चित्रित किया गया, जबकि पुस्तक में उसे गर्व से भारत वापस लौटने और तिरंगे को सलाम करते हुए दिखाया गया है।

इस तरह सिक्का ने आरोप लगाया कि फिल्म की निर्देशक मेघना गुलज़ार ने जानबूझकर पाकिस्तानियों को खुश करने के लिए कहानी को बदल दिया।

उन्होंने यह भी दावा किया कि गीतकार गुलज़ार और उनकी बेटी ने फिल्मफेयर और जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल जैसे मंचों से उनके नाम के दावे को हटाने की कोशिश की।

उन्होंने कहा कि उन्हें सर्वश्रेष्ठ मूल कहानी के लिए एक पुरस्कार मिलने की उम्मीद थी लेकिन उसमें बाधा आ गई। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मेघना गुलज़ार को दिए गए सारे क्रेडिट को सुनिश्चित करने के लिए उनकी पुस्तक लॉन्च में देरी करने की कोशिश की गई।