समाचार
तबलीगी जमात के सदस्यों ने चिकित्सकों, कर्मचारियों को कहे अपशब्द, उनपर थूका

निज़ामुद्दीन में हुए तबलीगी जमात के आयोजन का हिस्सा रहे जिन लोगों को रेलवे भवनों में क्वारन्टाइन (पृथक) करके रखा गया है, वे चिकित्सकों व कर्मचारियों को अपशब्द कह रहे और उनपर थूक रहे थे, एएनआई  ने रिपोर्ट किया।


रिपोर्ट के अनुसार 31 मार्च की रात्रि को तबलीगी जमात के 167 सदस्यों को मरकज़ निज़ामुद्दीन से ले जाकर तुगलकाबाद क्वारन्टाइन केंद्र पर पृथक रखा गया। 97 को डीज़ल शेड ट्रेनिंग स्कूल छात्रावास के क्वारन्टाइन केंद्र पर रखा गया और 70 को आरपीएफ बैरक क्वारन्टाइन केंद्र पर।

उत्तरी रेलवे के सीआरपीओ दीपक कुमार के अनुसार तबलीगी सदस्या अभद्र व्यवहार कर रहे थे और खाने को लेकर अनुचित माँगे कर रहे थे। उन्होंने क्वारन्टाइन केंद्र के चिकित्सकों और कर्मचारियों के साथ सहयोग करने से भी मना कर दिया और उन्हें अपशब्द कहने व उनपर थूकने लगे। इसके बाद वे परिसर में  भी थूकने लगे और भवन में घूमने-फिरने लगे।

पहले रिपोर्ट किया गया था कि बसों में ले जाते समय भी तबलीगी जमात के सदस्य सड़कों पर थूक रहे थे और विवश होकर स्वास्थ्य अधिकारियों को खिड़की बंद करनी पड़ी।