समाचार
अमेरिका-तालिबान शांति समझौते का हस्ताक्षर समारोह, कतर ने भारत को किया आमंत्रित

29 फरवरी को दोहा में अमेरिका-तालिबान शांति समझौते को लेकर हस्ताक्षर किए जाएँगे। इसके लिए कतर ने भारत को आमंत्रित किया है। इस दौरान दोहा में भारत का प्रतिनिधित्व राजदूत कुमारन करेंगे।

21 फरवरी को कतर के राज्य विभाग ने समझौते की घोषणा करते हुए कहा था, “हम 29 फरवरी को होने वाले हस्ताक्षर समारोह की तैयारी कर रहे हैं।”

विज्ञप्ति में राज्य विभाग ने कहा था, “इसके बाद इंट्रा-अफगान वार्ता जल्द ही शुरू होगी। अफगानिस्तान के लिए व्यापक, स्थायी युद्ध विराम और राजनीतिक रोडमैप बनाने के लिए इस मौलिक कदम को बढ़ाया जाएगा।”

तालिबान ने इसकी भी पुष्टि की कि दोनों पक्ष समझौते पर हस्ताक्षर करने की तारीख से पहले अब एक उपयुक्त सुरक्षा स्थिति बनाएँगे। हस्ताक्षर समारोह में हिस्सा लेने के लिए कई देशों और संगठन के वरिष्ठ प्रतिनिधियों को निमंत्रण भेजा जाएगा। कैदियों की रिहाई की व्यवस्था करेंगे, देश के राजनीतिक दलों के साथ इंट्रा-अफगान वार्ता के लिए एक रास्ता बनाएँगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जब भारत यात्रा पर थे, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अमेरिका-तालिबान शांति समझौते पर भी चर्चा हुई थी। 9/11 के आतंकी हमले और अफगानिस्तान में अमेरिकी हस्तक्षेप के बाद तालिबान को हटा दिया है। ऐसे में भारत उसका प्रमुख विकास भागीदार बना है। भारत ने पश्चिमी प्रांत हेरात में भारत-अफगानिस्तान मैत्री बांध की तरह कई इंफ्रास्ट्रक्चर किए है ।