समाचार
उत्तर प्रदेश में 26 जनवरी से खुलेगा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, पूरी क्षमता से काम जारी

निर्धारित समय सीमा से पहले ही उत्तर प्रदेश अगले वर्ष 26 जनवरी से पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लोगों के लिए खोलने की तैयारी में है। राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश के अवस्थी ने कहा, “कोविड-19 महामारी के बावजूद यह बड़ी सड़क परियोजना पूरी क्षमता के साथ निर्माण के लिए आगे बढ़ रही है।”

द इकोनॉमिक्स टाइम्स को अवनीश अवस्थी ने बताया, “340 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे, जिसका शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में किया था, लखनऊ को गाजीपुर से जोड़ेगा। इसके निर्माण का कार्य शुरू होने के 30 महीने बाद इसकी समाप्ति की समय सीमा अप्रैल 2021 है।

उन्होंने कहा, “एक अन्य प्रमुख परियोजना बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे, जिसका शिलान्यास भी प्रधानमंत्री ने किया था, 2021 के अंत तक उसे भी चालू कर दिया जाएगा। यह एक्सप्रेस-वे महत्वपूर्ण है क्योंकि उत्तर प्रदेश में आगामी डिफेंस कॉरिडोर के लिए यह लाभदायक होगा और निवेशकों को दिल्ली तक के लिए तेज़ मार्ग प्रदान करेगा।”

प्रदेश ने 33,000 करोड़ रुपये की लागत से मेरठ से प्रयागराज तक देश के सबसे लंबे 628 किलोमीटर गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण को लेकर एक निजी-सार्वजनिक भागीदारी (पीपीपी) के लिए अंतरराष्ट्रीय बोलियों को आमंत्रित करने की योजना बनाई है। अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) ने जानकारी दी, “इस परियोजना के चरण-2 में, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि गंगा एक्सप्रेस-वे को हरिद्वार और वाराणसी तक ले जाएँ, जो 1,000 किलोमीटर से अधिक लंबा हो।”

अवनीश के अवस्थी ने कहा, “एक्सप्रेस-वे का यह नेटवर्क पूरे प्रदेश को दिल्ली और बिहार तक लाभान्वित करेगा। हमने देखा है कि लोग आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से दिल्ली से लखनऊ तक सड़क मार्ग से जाना पसंद कर रहे हैं। अनलॉक के बाद से लखनऊ एक्सप्रेस-वे के यातायात में उछाल आया है क्योंकि अब लोग खुद के वाहन से यात्रा करना पसंद कर रहे हैं।”