समाचार
पंजाब में अफवाहों के कारण टीकाकरण धीमा, मात्र 37.4% स्वास्थ्यकर्मियों को लगा टीका

अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों के टीकाकरण में खराब प्रदर्शन का संकेत पंजाब में पाया गया जहाँ मंगलवार (16 फरवरी) तक पंजीकृत अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों में से सिर्फ 18.33 प्रतिशत को ही कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी गई।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब में कोविड-19 टीकाकरण के पहले चरण का अभियान 16 जनवरी को शुरू हुआ लेकिन राज्य अपने पंजीकृत स्वास्थ्यकर्मियों का सिर्फ 37.40 प्रतिशत टीकाकरण करने में सफल रहा।

अग्रिम पंक्ति के कर्मियों की अधिक प्रतिक्रिया नहीं आ रही, जिसमें पुलिस, सफाईकर्मी, एमसी कर्मचारी, रक्षा, अर्धसैनिक बल आदि शामिल हैं।

पंजाब के स्वास्थ्य निदेशक डॉक्टर जीबी सिंह ने कहा, “स्वास्थ्यकर्मियों के बीच वैक्सीन को लेकर फैला भ्रम राज्य में कम टीकाकरण की वजह है। हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि स्वास्थ्य सेवा और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को किसी तरह की हिचकिचाहट से बचाने के लिए प्रोत्साहित किया जाए लेकिन हम एक सीमा तक ही कह सकते हैं। यह उनकी व्यक्तिगत पसंद और निर्णय है।”

मंगलवार (16 फरवरी) तक टीकाकरण की 86.4 लाख पहली खुराक देशभर में दी जा चुकी है, जिसमें पंजाब ने सिर्फ 1.09 लाख खुराक दी है। पंजाब की तुलना में कम आबादी वाले पड़ोसी राज्य हरियाणा ने 2 लाख लोगों को टीकाकरण की पहली खुराक दे दी है।