समाचार
“जलियांवाला हत्याकांड के लिए औपचारिक माफी मांगे ब्रिटेन”- पंजाब विधान सभा

बुधवार (20 फरवरी) को पंजाब विधान ने सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया जिसमें उन्होंने ब्रिटेन की सरकार से जलियांवाला बाग हत्याकांड के लिए एक औपचारिक माफी की मांग की है। संसदीय कार्य मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने इस प्रस्ताव को रखा और सभी पार्टियों ने इस प्रस्ताव का समर्थन किया।

“13 अप्रैल 1919 में अमृतसर के जलियांवाला बाग में जो मासूम प्रदर्शनकारियों का कत्लेआम हुआ वह आज तक भारत में ब्रिटिश राज की सबसे भयानक याद बना हुआ है। यह शर्मनाक सैन्य हमला जो शांतिमय ढंग से रोलॉट एक्ट के विरुद्ध प्रदर्शन कर रहे लोगों पर किया गया वह तब से पूरी दुनिया की निंदा प्राप्त कर रहा है।”, प्रस्ताव में कहा गया।

“यह अगस्त गृह सर्वमस्मिति से राज्य सरकार से अनुग्रह करता है कि वे इस मुद्दे को भारत सरकार तक लेकर जाए ताकि वह ब्रिटिश सरकार पर जलियांवाला बाग हत्याकांड के लिए आधिकारिक रूप से माफी मांगने के लिए प्रभाव डालें।”, प्रस्ताव में कहा गया, टाइम्स नाउ ने रिपोर्ट किया।

जलियांवाला बाग हत्याकांड 13 अप्रैल 1919 को अमृतसर में तब हुआ जब आम जनता रोलॉट एक्ट का विरोध कर रही थी, और उसी वक़्त ब्रिटिश भारतीय सेना ने कर्नल रेगीनल्ड डायर की अध्यक्षता में उन प्रदर्शनकारियों पर हमला कर दिया।